Image default
Editor's Picks

सम्राट पृथ्वीराज के सम्मान से जुड़ा मामला बोम्बे हाईकोर्ट पहुंचा!

प्रदीप द्विवेदी. अक्षय कुमार की प्रमुख भूमिका वाली सम्राट पृथ्वीराज पर बनी फिल्म के टाइटल में उनका नाम सम्मानजनक तरीके से नहीं पेश करने का मामला बोम्बे हाईकोर्ट में पहुंच गया है. इसे लेकर करणी सेना ने पहले ही नाराजगी जताई थी और कहा था कि टाइटल में सम्राट पृथ्वीराज का नाम सम्मान से दिया जाना चाहिए. फरवरी माह में बोम्बे हाईकोर्ट में श्री राजपूत करणी सेना, मुंबई ने यश राज फिल्मस् प्रा.लि. के खिलाफ शिकायत की.
अभिनेता अक्षय कुमार की “पृथ्वीराज” फिल्म के निर्माता आदित्य चोपड़ा, लेखक-निर्देशक चंद्र प्रकाश द्विवेदी और यशराज फिल्म्स डिस्ट्रीब्यूटर हैं.
इस फिल्म में अक्षय कुमार ने सम्राट पृथ्वीराज चौहान की भूमिका निभाई है, जो 5 नवम्बर 2021 को रिलीज होनी है.
इसका प्रोमो टीजर आने के बाद करनी सेना ने बेहद नाराजगी जताई थी और करणी सेना मुम्बई अध्यक्ष दिलीप राजपूत ने फिल्म का प्रदर्शन ना करने दिया जाए, इसके लिए बृहनमुंबई पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह और उपायुक्त जोन-9 अभिषेक त्रिमुखे के दफ्तर में शिकायत भी दर्ज कराई थी.
इस शिकायत में कहा गया था कि- भावनाओं को आहात करने के जुर्म में “पृथ्वीराज” फिल्म के निर्माता यशराज फिल्म्स के खिलाफ मामला दर्ज करें और डिजिटल प्लेटफार्म पर किये जा रहे फिल्म के प्रोमो के प्रसारण पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाएं.
महान पराक्रमी योद्धा, दिल्ली के सिंहासन पर बैठनेवाले अंतिम हिन्दू सम्राट, राजपूत शासक पृथ्वीराज चैहान के जीवन पर आधारित एक फिल्म का निर्माण यश राज फिल्म्स द्वारा किया जा रहा है. इस फिल्म के निर्देशक डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी हैं और मुख्य भूमिका अक्षय कुमार निभा रहे हैं. निर्माणाधीन फिल्म का नाम “पृथ्वीराज” रखा गया है. उच्च प्रतिष्ठित सम्राट, राष्ट्र गौरव, भारत भूमि के वीर योद्धा पर बन रही इस फिल्म को “पृथ्वीराज” नाम देना आधा-अधूरा और असम्मानजनक है. इस तरह का संबोधन करोड़ों दिलों को ठेस पहुंचाने वाला है, भावनाओं को आहात करने वाला है.
शिकायत में कहा गया कि- यकीनन, डिजिटल प्लेटफार्म पर जारी इस फिल्म के प्रोमोशन से हमारे भावनाओं को ठेस पहुंची है. इससे पहले भी कई महान हस्तियों के जीवनी पर फिल्में बन चुकी हैं, लेकिन किसी भी निर्माता-निर्देशक ने इस तरह का दुस्साहस न करते हुए हर फिल्म को उचित नाम, सम्मान और न्याय दिया है.
बड़ा सवाल यह है कि सम्राट पृथ्वीराज चौहान जैसे विशाल और विराट व्यक्तित्व पर सही फिल्म बनाने वालों की सोच इतनी संकीर्ण कैसे हो सकती है?
करणी सेना, फिल्म निर्माताओं से अपेक्षा करती है कि वे इस विषय पर व्यापक शोध करें, यह सुनिश्चित करें कि वे किसी की भावनाओं को आहात तो नहीं कर रहे हैं या इतिहास की गलत व्याख्या तो नहीं कर रहे हैं.
यही नहीं, करणी सेना ने स्क्रिप्ट साझा करने का भी जिक्र किया था, जिससे इतिहासकारों की टीम उसे सत्यापित कर सके, लेकिन निर्माता-निर्देशक स्क्रिप्ट का निरीक्षण साझा करने या देने के लिए तैयार नहीं हुएं. ऐसी स्थिति में, अपनी आशंका का समाधान करने हेतु फिल्म के निर्माता से कहा गया कि वे यह लिखित में दें कि- फिल्म में इतिहास के साथ कोई छेड़-छाड़ नहीं की गयी है, न ही तथ्यों को गलत दर्शाया गया है और न ही फिल्म की पटकथा विकृत है.
शिकायत में कहा गया कि- ऐसा प्रतीत होता है कि फिल्म के निर्माता सकारात्मक रूप से सहयोग या प्रतिक्रिया देने के लिए तैयार नहीं हैं, लिहाजा हम यह बताना चाहेंगे कि उनके लिए यह एक फिल्म हो सकती है, लेकिन हमारे लिए धरती सुपुत्र पृथ्वीराज चौहान एक विरासत, आदर्श, प्रेरणा और सम्मान हैं. राष्ट्र-गौरव पृथ्वीराज चौहान की महिमा और महानता से समझौता नहीं किया जा सकता है. निर्माता के लिए यह फिल्म मनोरंजन और आय का साधन हो सकती है, परन्तु हमारे लिए सम्राट पृथ्वीराज चौहान हमारा गौरव हैं.
इसलिए, आपसे अनुरोध है कि आप उक्त शिकायत का संज्ञान लें और हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए निर्माता यश राज फिल्म्स के विरूद्ध कानून सम्मत कार्रवाई करें.
समय रहते, इस फिल्म के निर्माता-निर्देशक को करणी सेना की भावनाओं को समझते हुए, उनकी भावनाओं का आदर करते हुए, उन्हें चाही गई जानकारियां शेयर करनी चाहिएं और सुझावों के सापेक्ष उचित बदलाव भी करने चाहिएं!

Related posts

Ayush Gupta pens ‘Reiki : Bramhand Ki Rahasyamayi Urja’

BollywoodBazarGuide

फेमस एक्ट्रेस माधुरी का बड़ा सवाल…. किस बैंक पर भरोसा करें?

BollywoodBazarGuide

दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे….

BollywoodBazarGuide

Leave a Comment

Subscribe here to get latest daily updates...