Image default
Editor's Picks

Madhya Pradesh Film Tourism Policy-2020…. मध्यप्रदेश फिल्म पर्यटन नीति-2020

Bhopal. The salient features of Madhya Pradesh Film Tourism Policy-2020 approved by the State Cabinet chaired by The Chief Minister Kamal Nath….

भोपाल.मुख्यमंत्री कमल नाथ की अध्यक्षता में मंत्रालय में हुई मंत्रि-परिषद की बैठक में मध्यप्रदेश फिल्म पर्यटन नीति-2020 का अनुमोदन किया गया। नीति के मुख्य बिन्दु इस प्रकार हैं….

  • मध्यप्रदेश को फिल्म निर्माताओं के लिए प्रमुख आकर्षण बनाना एवं निजी निवेश को प्रोत्साहित करना।
  • राज्य में फिल्म शूटिंग के माध्यम से कौशल विकास और रोजगार सृजन।
  • फीचर फिल्म, टी.वी. सीरियल/ शो/वेब ‍सीरीज/शो/डाक्यूमेंट्री की शूटिंग के लिये वित्तीय अनुदान के माध्यम से मध्यप्रदेश में शूटिंग को प्रोत्साहन।
  • मध्यप्रदेश के स्थानों के प्रचार-प्रसार के लिये अधिक स्क्रीन टाईम के लिये विशेष अनुदान।
  • अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म निर्माताओं और दक्षिण भारतीय फिल्म निर्माताओं के लिये विशेष वित्तीय प्रोत्साहन।
  • स्थायी प्रकृति के बुनियादी ढांचे के निर्माण पर वित्तीय प्रोत्साहन/अनुदान/ भूमि आवंटन।
  • फिल्म निर्माताओं के लिये समय सीमा में अनुमति की सुविधा और सहायता देना।
  • रियायती दरों पर एमपीएसटीडीसी की ईकाइयों में सेवाएँ उपलब्ध कराना।
  • फिल्म नीति क्रियान्वयन के लिये विशेष समर्पित फिल्म फेसिलिटेशन सेल का निर्माण।
  • सिंगल विन्डो सिस्टम के माध्यम से फिल्मांकन अनुमति के लिये संबंधित विभागों से आवश्यक समन्वय स्थापित करना।
  • फिल्म सिटी, फिल्म स्टूडियो, कौशल विकास केन्द्र आदि के लिये राज्य में फिल्म उद्योग को प्रोत्साहन।
  • फिल्म से संबंधित विभिन्न आयोजनों में सहभागिता की जाकर प्रदेश का प्रचार-प्रसार करना।
  • बुनियादी ढांचे यथा- आवास एवं परिवहन आदि का विकास।
  • राज्य सरकार के अधिकार क्षेत्र में आने वाले आधारभूत ढांचे और सेवाओं जैसे हवाई जहाज, हेलीकॉप्टरों, सम्पत्तियों आदि को फिल्म निर्माताओं को प्रक्रियानुसार उपलब्ध कराना।
  • सिंगल स्क्रीन सिनेमा, बंद सिनेमा घरों के पुनरूद्वार को बढ़ावा देना और मौजूदा सिनेमा हॉल को अपग्रेड करना तथा मल्टीप्लेक्स की स्थापना को प्रोत्साहित करना/वित्तीय अनुदान।
  • फिल्म सिटी, फिल्म स्टूडियो, पोस्ट-प्रोडक्शन सेन्टर, वीएफएक्स सेन्टर, स्किल डेव्लपमेंट सेन्टर , फिल्म इंस्टीटयूट एण्ड ट्रेनिंग इंस्टीटयूट, इनक्यूबेशन सेन्टर और अन्य फिल्म संबंधी स्टार्टअप प्रोजेक्ट जैसे विभिन्न फिल्म निर्माण परियोजनाओं के लिए पर्यटन नीति अन्तर्गत भूमि आवंटन ।
  • फिल्म एण्ड टेलीविजन इंस्टीटयूट ऑफ इण्डिया (एफटीआईआई) पुणे, सत्यजीत रे फिल्म एण्ड टेलीविजन इंस्टीटयूट ऑफ कोलकाता, नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा, नई दिल्ली और अन्य समकक्ष प्रतिष्ठित संस्थानों के छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान करना।
  • फिल्म से संबंधित पाठयक्रमों/विषयों पर विभिन्न कार्यशालाओं का आयोजन।
  • आवेदक को फिल्म नीति-2020 में अनुदान प्राप्त करने के लिए फिल्म में राज्य सरकार और पर्यटन विभाग को श्रेय देना होगा। साथ ही पर्यटन विभाग/राज्य शासन के ‘लोगो’ का उपयोग एवं फिल्म शूटिंग के स्थान का नाम आवश्यक रूप से उल्लेखित करना होगा, जिससे मध्यप्रदेश का प्रचार-प्रसार होगा।
  • मध्यप्रदेश की विशेष ब्रांडिंग करने वाली फिल्मों के लिए विशेष वित्तीय प्रावधान।
  • To make Madhya Pradesh a major attraction for filmmakers and encourage private investment.
  • Skill development and employment generation through film making in the state.
  • Promoting film shooting in Madhya Pradesh through financial grant for shooting of serials / TV show / web series / documentary.
  • Special grant for more screen time for promotion of sites in Madhya Pradesh.
  • Special financial incentives for internationally recognized and South Indian filmmakers.
  • Financial incentives / grants / land allocation on construction of infrastructure of permanent nature.
  • Facilitating permission and assistance for filmmakers within the time limit.
  • To provide services in units of MPSTDC at concessional rates.
  • Dedicated Film Facilitation Cell for the implementation of Film Policy.
  • Requisite coordination with the concerned departments for permission of filming through a single window system.
  • Promoting film industry in the state for Film City, Film Studio, Skill Development Center etc.
  • To promote the state by participating in various events related to the film.
  • Development of infrastructure such as housing and transport etc.
  • To make available infrastructure and services such as airplanes, helicopters, properties etc. owned by the State Government to the filmmakers as per the processes.
  • Promoting the rennovation of single screen cinema, closed cinema houses and upgrading existing cinema halls and encouraging the multiplexes and financial grants.
  • Land allocation under tourism policy for various film production projects like Film City, Film Studio, Post-Production Center, VFX Center, Skill Development Center, Film Institute and Training Institute, Incubation Center and other film related startup projects.
  • Scholarship to the students of Film and Television Institute of India (FTII) Pune, Satyajit Ray Film and Television Institute of Kolkata, National School of Drama, New Delhi and other equivalent reputed institutions.
  • Organizing various workshops on film related courses / subjects.
  • The applicants will have to give credit to the state government and the tourism department in the films produced by them for receiving the grant in Film Policy-2020. Also, the use of the ‘logo’ of the tourism department / state government and the name of the location of the film shooting must be mentioned, which will lead to the promotion of Madhya Pradesh.
  • Special financial provision for the films securing special branding of Madhya Pradesh.

Related posts

‘Yeh Rishtey Hain Pyaar Ke’ : 5 reasons to watch

BollywoodBazarGuide

Amod Doshi makes post lockdown plan for make up industry

BollywoodBazarGuide

Rahul Jain’s back to give us goosebumps with sad version of Bepannah title after winning our hearts with the rock version

BollywoodBazarGuide

Leave a Comment

Subscribe here to get latest daily updates...