Image default
Review

रेनबो… महज टूल नहीं होते कलाकार!

प्रदीप द्विवेदी. भारतीय सिनेमा को लेकर प्रिंट मीडिया में विशेष सामग्री से सजे पेज अक्सर आते रहे हैं. कई अखबारों में विशेष मौकों पर ऐसे पेज आते हैं, तो कुछ में नियमितरूप से. देश के प्रमुख लोकप्रिय समाचार पत्र समूह लोकमत के हिन्दी अखबार लोकमत समाचार में नियमितरूप से सिनेमा का पेज- रेनबो, आता है. ग्लैमर वल्र्ड के विविध रंगों सजा यह पेज फिल्मी दुनिया की खबरों से तो रूबरू कराता ही है, सिनेमा से जुड़ी ऐसी सामग्री भी होती है जो विचारणीय होती है.
रेनबो पेज में प्रसिद्ध लेखक अजय ब्रह्मात्मज के काॅलम सिनेमालोक में, किसी कलाकार की जिम्मेदारी को लेकर व्यक्त विचार पढ़ने लायक हैं- महज टूल नहीं होते कलाकार!
इसके अलावा इस पेज में कबीर सिंह के आगे फीकी रही आर्टिकल 15, जायरा वसीम के बाॅलीवुड छोड़ने के फैसले पर दंगल डायरेक्टर हैरान, टीम इंडिया की ओरेंज-ब्लू जर्सी पर टिप्पणी से हुमा ट्रोल जैसी कई रोचक खबरें भी हैं.
रेनबों का यह पेज यहां देखा जा सकता है…

http://epaperlokmat.in/lokmatsamachar/main-editions/Nagpur%20Main%20/-1/7

Related posts

विनय आनंद का नया भक्ति गीत- भोले बाबा निराला!

BollywoodBazarGuide

अनिता: इस तरह से मिल सकता है आधी दुनिया को पूरा हक!

BollywoodBazarGuide

प्रदीप द्विवेदीः इनकी नजरों से बच नहीं पाओगे बेरहम बजटवालों!

BollywoodBazarGuide

Leave a Comment