Image default
Astrology

कोरोना वायरस से घबराएं नहीं, यहां अपनी पूर्ण आयु निशुल्क जानें!

प्रदीप द्विवेदी. कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनियाभर में डर का वातावरण है, लेकिन विश्वास रखें, इस महामारी से दुनिया खत्म नहीं होगी. आपके हाथ की जीवन रेखा बताती है कि आपकी पूर्ण आयु कितनी है? यह आयु ईश्वर द्वारा हमें प्रदान की गई है, इसलिए कोरोना वायरस से डरने की नहीं, लेकिन सतर्क रहने की जरूरत है, ताकि पूर्ण आयु से पहले कुछ हो न जाए?

अपनी पूर्ण आयु निशुल्क जानने के लिए अपना नाम, अपने दोनों हाथ की रेखाओं के फोटो सहित, व्हाट्सएप- 7597335007 और ईमेल- ppindia20@gmail.com पर भेजें. महामारी के ज्ञात खतरों से हमें हमारी सावधानी बचाती है, तो अज्ञात खतरों से ईश्वर हमारी रक्षा करता है.

इसलिए, कोरोना वायरस के कुप्रभाव से बचने के लिए स्वास्थ्य के विभिन्न नियमों और निर्देशों का पालन करें तथा जिस भी ईश्वर में हमारी आस्था हो, उस ईश्वर का सच्चे मन से स्मरण करें.
किसी व्यक्ति के हाथ की जीवन रेखा उसकी पूरी उम्र का प्रतिनिधित्व करती है, लेकिन कई बार जीवन में घात भी आती है. यह घात जन्म कुंडली के कमजोर योग, वर्षफल, अकारक दशा-अंतरदशा, प्रतिकुल ग्रह गोचर आदि के कारण हो सकती है, लेकिन, यदि अच्छा वक्त नहीं ठहरता है तो खराब समय भी रूकता नहीं है, लिहाजा अच्छे समय का सद्उपयोग करें और खराब समय में सतर्क रहें.यदि आप सितारों के समीकरणों पर भरोसा करते हैं, तो मान लें कि गुजरते समय के साथ कोरोना वायरस कमजोर हो जाएगा, परन्तु तब तक अपने हाथ की जीवनरेखा की रक्षा करना आपकी जिम्मेदारी है!

Coronavirus attacks won’t end the world….

Mumbai (WhatsApp- 9372086563). Coronavirus attacks won’t end the world. But it can affect the Stars of the world. The lifelines on the hands of people suggest that their world will not end with the Corona virus attack, but that does it mean that we should be careless about it?The lifeline of a person’s hand represents his or her full age, but many times in life there is also a Ghat. This Ghat can be caused by a weak horoscope or due to the planetary transit.Therefore, it is not necessary to consider the lifeline as full age.There are two ways to avoid ambush, First – do good deeds and worship your God regularly and secondly – take care of your life, follow the rules of safety.To prevent coronavirus attack, follow the lockdown completely, take care of cleanliness and must maintain social distance.If you trust the equations of stars, then assume that the corona virus will also weaken over time, but it is your responsibility to protect the lifeline of your hand until then!

……………………………………

भाग्य उनका भी है जो भाग्य को नहीं मानते!

* प्रदीप कुमार द्विवेदी
कई बार ऐसा होता है कि जो लोग आस्तिक होते हैं वे नाकामयाब रहते हैं और नास्तिक कामयाब। इस तरह के परिणाम का कारण व्यक्ति स्वयं होता है। भाग्य का आस्तिक होने या न होने से कोई सम्बन्ध नहीं है। भाग्य उन लोगों का भी होता है जो भाग्य को नहीं मानते हैं। लेकिन भाग्य अस्तित्व में तभी आता है जब कर्म होता है। जैसे प्रकाश के बगैर छाया सम्भव नहीं है वैसे ही कर्म के बगैर भाग्य का लाभ सम्भव नहीं है। 
यदि कोई नास्तिक बेहतर कर्म करता है तो यकीनन उसे भाग्य के सापेक्ष कामयाबी मिलेगी और यदि कोई आस्तिक कर्म की उपेक्षा करता है तो निश्चय ही जीवन में उसे नाकामयाबी मिलेगी। भाग्य तो महज किसी प्रयास कि सफलता का प्रतिशत तय करता है। इसलिए बगैर प्रयास के, बगैर कर्म के केवल आस्तिक होने के दम पर सफलता नहीं पाई जा सकती है। 
भाग्य की प्रबलता पूर्व जन्मों के सत्कर्मों पर निर्भर है। जो हो चुका है उसे बदलना व्यक्ति के हाथ में नहीं है लेकिन वर्तमान सत्कर्म भाग्य को संवार जरूर सकते हैं। इसलिए यह तय है कि सच्चा और सात्विक जीवन जीने वाला नास्तिक, किसी ढोंगी आस्तिक से ज्यादा सुखी और सफल रहता है। भाग्य और सफलता का यही सम्बन्ध है और जो इसे अपना लेता है वही सफल होता है, चाहे आस्तिक हो या नास्तिक। 
भगवान पर भरोसा करनेवाले अनेक ऐसे लोग मिल जाएंगे जो कहने को भगवान पर भरोसा जताते हैं पर वास्तव में भरोसा करते नहीं हैं! जब अच्छे कर्म करते हैं तो सबको कहते रहते हैं कि ईश्वर सब देख रहा है लेकिन जब बुरे कर्म करते हैं तब मान कर चलते हैं कि उन्हें कोई नहीं देख रहा, भगवान भी नहीं!
………………………………………….

जादू नहीं है ज्योतिष शास्त्र!

गुजराती में एक कहावत है जिसका भावार्थ है… जब तक मूर्ख लोग धरती पर मौजूद हैं तब तक ठग भूखे नहीं मर सकते हैं! ज्यादातर लोग ज्योतिषी और धर्मगुरु के पास चमत्कार की उम्मीद से जाते हैं। जो सच्चे ज्योतिषी-धर्मगुरु होते हैं वे तो सही राह दिखा देते हैं पर अक्सर ऐसे लोग ठगे जाते हैं!
साफ बात तो यह है कि ज्योतिष कोई जादू नहीं है। यह तो इंसान के जीवन की कहानी पढने की एक भाषा है, एक तरीका है। उपरवाले ने जिसे यह भाषा पढने की क्षमता दी है, हस्तरेखाएं देख कर, जन्म कुंडली पढ़ कर, वह किसी व्यक्ति के जीवन में घटित होनेवाली घटनाओं की जानकारी तो दे सकता है लेकिन कहानी को बदल नहीं सकता है। इसलिए ज्योतिषीय उपाय से, पूजा-प्रयोग से चमत्कार की उम्मीद करनेवाले अक्सर ठगे जाते हैं!
ज्योतिषीय उपाय से, पूजा-प्रयोग से और सद्कर्मों से भाग्य को संवारा जा सकता है, बदला नहीं जा सकता है।
ज्योतिष की उपयोगिता यही है कि जीवन की दिशा का ज्ञान होता है और इसके सापेक्ष सदिश कर्मों से श्रेष्ठ परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं। यदि किसी को यह जानकारी मिल जाए कि वह फिल्म से संबंधित कार्य में सफल होगा तो वह इससे संबंधित बेहतर प्रशिक्षण प्राप्त करके सफल स्टार बन सकता है, कोशिश करके फिल्मों में कामयाब हो सकता है, प्रयास करके टीवी पर लोकप्रियता प्राप्त कर सकता है और यदि अज्ञानता के अंधेरे में पड़ा रहे तो जीवन सपने देखने में ही गुजर जाएगा!
इसलिए ज्योतिषी और धर्मगुरु से सही जानकारी प्राप्त कर सद्कर्म करें, कामयाबी आपके कदमों में होगी। केवल ज्योतिषीय उपाय से चमत्कार की उम्मीद रखनेवाले लोग जीवनभर चक्कर ही काटते रहते हैं!

Related posts

भाई दूज और रक्षा बंधन!

BollywoodBazarGuide

फिल्मी फ्यूचर…. इन छह राशियों पर मेहरबान होंगे शनि महाराज!

BollywoodBazarGuide

बाॅलीवुड में आपका दिन, महिना और साल कैसा है?

BollywoodBazarGuide

1 comment

Ashok kalra ,mob. No. 9286133340 July 4, 2019 at 3:01 pm

My life future time

Reply

Leave a Comment