Image default
Views

पॉकेट थिएटर : मनोरंजन की आजादी!

श्रीमती अनिता. स्मार्ट फोन ने मनोरंजन की आजादी दे दी है… न सिनेमा हॉल की टिकट का बंधन, न टीवी के सामने बैठे रहने की बंदिश… न मनोरंजन का सीमा बंधन, न मनोरंजन का समय प्रतिबंध! एंटरटेनमेंट… कभी भी, कहीं भी! बस में सफर करते खाली समय में मनोरंजन, किसी के इंतजार के क्षणों में मनोरंजन, लेकिन… मनोरंजन का मतलब केवल टाइम पास नहीं है… यह मनोरंजन जानकारी देनेवाला हो सकता है… यह मनोरंजन सूचना देनेवाला हो सकता है… यह मनोरंजन नॉलेज देनेवाला हो सकता है… यह मनोरंजन समाचार देनेवाला हो सकता है… यह मनोरंजन अपराध से सावधान करनेवाला हो सकता है… यहां मनोरंजन मतलब… मन का सुख, मन की खुशी, मन की जरूरत!
मनोरंजन की आजादी में पॉकेट थिएटर की बड़ी भूमिका है. आज इंटरनेट पर मनोरंजन की ढेर सारी सामग्री उपलब्ध है और उसमें अपनी पसंद की सामग्री निकालना भूसे में सूई तलाशने जैसा है… विश्वसनीय पॉकेट थिएटर इस काम में एक अच्छे गाइड की भूमिका निभा सकता है और सबसे बेहतर बात आप अपनों को इसे सोशल मीडिया पर फारवर्ड भी कर सकते हैं, शेयर भी कर सकते हैं!
आनेवाले समय में सिनेमा हॉल की तरह माइक्रो फिल्में इन पॉकेट थिएटर में रिलिज होंगी… म्यूजिक एलबम लांॅच होंगे… एक अलग ही तरह का एंटरटेनमेंट वल्र्ड आकार लेगा… स्मार्टवुड!
जैसे फिल्मी दुनिया से हट कर टीवी का संसार बना है वैसे ही स्मार्ट स्क्रीन भी अपनी अलग पहचान बनाएगी… फिल्मांकन के तरीके अलग, प्रस्तुतीकरण के तरीके अलग, मार्केटिंग के तरीके अलग, कमाई के तरीके अलग! दर्शकों को मिलेगा थ्री डी एंटरटेनमेंट… सिनेमा, टीवी और पॉकेट थिएटर!

Related posts

अमिताभ बच्चन…. प्रदीप भटनागर…. छोरे गंगा किनारे वाले!

BollywoodBazarGuide

Gaurav Wadhwa of Rajan Shahi’s Baavle Utaavle unplugged!

BollywoodBazarGuide

आरती ने कहा- कृष्णा की नजरों में सक्सेस तो… मैं खुश!

BollywoodBazarGuide

Leave a Comment